Khabar buddy

पाकिस्तान नई जाना चाहती सीमा हैदर

Seema-haider-don't-want-return-pakistan

Seema-Haider-don't-want-return-pakistan

चारों बच्चों की मां सीमा हैदर, जो कराची में निवास करती हैं, ने अवैध रूप से भारत में प्रवेश करने के बाद गिरफ्तारी का सामरिक अपनाया था। उन्हें वहां किसी भारतीय के साथ ऑनलाइन गेमिंग प्लेटफॉर्म पर दोस्ती हुई थी। इसके बाद, उन्हें उस व्यक्ति से प्यार हो गया और वह दुबई में काम कर रहे पति और अपने पाकिस्तानी घर को छोड़कर उस व्यक्ति के पास पहुंच गई।

सीमा हैदर और उनके बच्चे दुबई और नेपाल के माध्यम से भारतीय सीमा पार करके दिल्ली के पास स्थित ग्रेटर नोएडा में पहुंचे, जहां उनका प्यार कर्मचारी सचिन निवास करता है। वे एक साथ किराए के अपार्टमेंट में रहने लगे। हालांकि, हरियाणा के एक शहर के रास्ते उन्हें रोका गया, जिसके पश्चात उन्हें पकड़ा गया और प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा पूछताछ के लिए बुलाया गया। इसके बाद, सीमा ने अपनी पाकिस्तानी नागरिकता की जानकारी दी।

सीमा हैदर को अवैध रूप से भारत में प्रवेश करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। यह मामला उनके और उनके प्यारे सचिन के बीच के रिश्ते को मुश्किल में डालने के साथ-साथ दोनों देशों के कानूनी मुद्दों को भी संघर्ष में डाल देगा।

सीमा हैदर चारों बच्चों की मां हैं और उनके प्यार सचिन के साथ यह संघर्षपूर्ण परिस्थिति उनके परिवार के लिए अत्यंत कठिनाईयों का सामना है। इसके अलावा, यह भी मान्यता प्राप्त करने के लिए दूसरे देश के कानूनी प्रक्रिया और व्यवस्था के अनुरूप होने के लिए सीमा को संघर्ष करना पड़ रहा है।

यह मामला विशेष रूप से सीमा गुलाम हैदर और उसके परिवार के लिए एक बड़ा संकट है, जहां वे दोनों अपने प्यार के साथ रहने की आशा करते हैं, लेकिन कानून और विभाजन की विवादित मरम्मतों के बीच इसे बहुत जटिल बना दिया है। अब, इस मामले को उच्चतम अदालत में सुनवाई के लिए ले जाने का फैसला हुआ है, जो सीमा और उसके परिवार के भविष्य को निर्धारित करेगा।

यह मामला मनोवैज्ञानिक, सामाजिक, और कानूनी दृष्टिकोण से गंभीरता और महत्वपूर्ण है, जो व्यक्तियों और दोनों देशों के बीच सीमांत रिश्तों की जटिलताओं को प्रकट करता है। इस मामले से हमें एक यात्रा पर ले जाता है, जो अपार्ट राजनीतिक, सामाजिक, और व्यक्तिगत परिवर्तनों के बीच द्विधारित है। सीमा गुलाम हैदर और उसके परिवार के लिए यह एक निर्णायक पल है, जो उनके भविष्य को प्रभावित करेगा और दोनों देशों के कानूनी प्रक्रिया के माध्यम से न्याय की तलाश करेगा।

Exit mobile version